महाराष्ट्र में अब खुलेंगे मंदिर-मस्जिद, नवरात्र के पहले दिन से रोक हटाने का ऐलान; 4 अक्टूबर से स्कूलों से भी हटेंगे ताले

0
73

कोरोना महामारी की वजह से लंबे समय से महाराष्ट्र में बंद धार्मिक स्थलों को 7 अक्टूबर से खोलने की इजाजत दे दी गई है। नवरात्र के पहले दिन से राज्य में सभी मंदिरों के साथ अन्य धार्मिक स्थल भी खुल जाएंगे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से यह जानकारी दी गई है। विपक्षी दल बीजेपी लंबे समय से धार्मिक स्थलों को खोलने के लिए आंदोलन कर रही थी। इसके अलावा स्कूलों को खोलने की भी अनुमति दी गई है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के अधिकांश दिन में चलने वाले स्कूल को 4 अक्टूबर से प्रतिबंधों के साथ फिर से खोलने की अनुमति शुक्रवार को दे दी। ग्रामीण क्षेत्र में 5-12वीं कक्षा, कस्बा और शहरी क्षेत्रों में 8-12वीं कक्षा के लिए स्कूल खोलने की अनुमति दी गई है। कोरोना महामारी के कारण पिछले डेढ़ साल से स्कूल बंद थे। हालांकि ऑनलाइन पढ़ाई चल रही थी।

स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि कोविड-19 के सभी नियमों का कड़ाई से पालन करते हुए स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी गयी है। उन्होंने कहा कि श्री ठाकरे और कोविड-19 टास्क फोर्स से चर्चा करने के बाद यह फैसला लिया गया है।

उन्होंने कहा कि स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी। बच्चों को स्कूल जाने की अनुमति देने के लिए माता-पिता की सहमति अनिवार्य होगी। संख्या के आधार पर, स्कूल सीमित कक्षाओं या वैकल्पिक दिन की कक्षाओं का विकल्प चुन सकते हैं।

बता दें कि महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोविड-19 के 3,286 नए मामलों की पुष्टि हुई है और 51 संक्रमितों की मौत हो गई. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि इसके साथ ही महाराष्ट्र में अबतक 65,37,843 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है जिनमें से 1,38,776 मरीजों की मौत हुई है।

अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 3,933 मरीजों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई. इसके साथ ही राज्य में महामारी को अबतक मात देने वालों की संख्या बढ़कर 63,57,012 हो गई है। इस समय राज्य में 39,491 मरीजों का इलाज चल रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक राज्य के 10 जिले- यवतमाल, भंडारा, गोंदिया, गढ़चिरौली, हिंगोली, वाशिम और जलगांव, नांदेड, अमरावती और नागपुर के ग्रामीण इलाके- रहे जहां पर शुक्रवार को संक्रमण का एक भी नया मामला नहीं आया। भिवंडी-निजामपुर, मालेगांव,परभणी, नांदेड, अकोला और चंद्रपुर नगर निगम क्षेत्र में भी शुक्रवार को कोई संक्रमित नहीं मिला।

अधिकारी ने बताया कि राज्य के अहमदनगर जिले में सबसे अधिक 691 नए मामले आए जबकि मुंबई शहर व उसके उपनगरों में 446 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई। सातारा जिले में सबसे अधिक सात लोगों की मौत दर्ज की गई जबकि मुंबई में छह लोगों की जान गत 24 घंटे के दौरान गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.